Tuesday, September 21, 2021

लगातार असफलता मिल रही है तो इन वास्तु दोषों को जल्द दूर करें, ये हैं आसान उपाय

Must read

वास्तु– कई बार ऎसा होता है कि लोग भरपूर मेहनत करते हैं, लेकिन उसके अनुरूप उन्हें फल नहीं मिल पाता है। जिसके चलते लगातार निराशा बढ़ती जाती है। हताश होने लगते हैं। इसे दूर करने के लिए हम कई बार उपाय तलाशते हैं। कई बार असफलता के लिए घर का वास्तु दोष भी कारण बन सकता है। यहां हम उन वास्तु दोषों की चर्चा करेंगे, जिसे दूर कर हम सफलता की ओर अग्रसर हो सकें और अपनी सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ा सके-

तुलसी का पौधा घर में रखें- वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में तुलसी का पौधा रखने से सकारात्मकता बनी रहती है। इससे दुर्भाग्य की छाया दूर होती है। तुलसी के पौधे की देखभाल करनी चाहिए और नियमित पूजा अर्चना करनी चाहिए।

 घर में नहीं रखें खंडित प्रतिमा- वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में खंडित प्रतिमाओं को रखना नकारात्मकता को बढ़ाना है। यह दुर्भाग्य का कारण भी हो सकता है। इसलिए प्रायः खंडित प्रतिमाओं को घर में रखने से मना किया जाता है. इन प्रतिमाओं को पूरी श्रद्धा और ईश्वर से क्षमा याचना करते हुए नदी या तालाब में विसर्जित कर देना चाहिए

घर के हर जगह की सफाई हो- साफ-सुधरे घर में सकारात्मक ऊर्जा भरपूर रहती है। इसलिए चाहिए कि घर के हर कोने की नियमित सफाई हो। कहीं भी गंदगी दिखाई न दे। धर्मशास्त्रों के अनुसार जिस घर में गंदगी होती है वहां माता लक्ष्मी का वास नहीं होता है।

इसे भी पढ़ेंसोते समय वास्तु का रखें ध्यान, Negativity से रहेंगे दूर, शांत रहेगा दिमाग

गोधूलि बेला के दौरान घर में अंधेरा न हो- शाम का वह समय जब दिनभर बाहर चरने के बाद गायों का आगमन होता है उस समसय को गोधूलि बेला माना जाता है। ऎसे समय में घर में अंधेरा नहीं होना चाहिए। कहा जाता है इस समय देवी-देवता पृथ्वी पर विचरण करते हैं और लोगों को आशीर्वाद देते हैं। इसलिए शाम के समय घर में अंधेरा नहीं होना चाहिए। देवताओं का आशीर्वाद मिलता है तब उन्नति होती है।

घर में कहीं जाले न हों – घर के किसी कोने में जाले नहीं होने चाहिए, इसकी सफाई हफ्ते में कम से कम एक बार जरूर करनी चाहिए। घर में जाला होने से आर्थिक उन्नति में बाधा आने की आशंका होती है। इसलिए लगातार इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि घर में कहीं पर भी जाला न हो।

घर के नलों से पानी न टपके – घर में लगाए गए नलों से पानी नहीं टपकना चाहिए। माना जाता है कि पानी टपकने से धर्म की हानि होती है और वास्तु दोष बढ़ता है। इसलिए जिन जो लोग लगातार असफल हो रहे हैं उन्हें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि कहीं उनके घर पानी व्यर्थ तो नहीं बह रहा। इसलिए नलों की मरम्मत कराएं और पानी बहने से रोकें।

साल में दो बार कथा-पूजन और हवन जरूर कराएं – कुछ लोग होते हैं तो ज्यादातर अपने घरों में भगवान की कथा, पूजन और हवन से दूर रहते हैं। लेकिन ऎसे लोग यदि लगातार असफलता झेल रहे हैं तो इन्हें साल में भगवान की पूजा, कथा, हवन आदि कराना चाहिए। इससे देवता प्रसन्न होते हैं और घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह सुचारू होता है।

दरवाजे/ खिड़की आवाज न करें – घर के दरवाजे/खिड़की खोलते या बंद करते वक्त आवाज नहीं करना चाहिए। वास्तु के अनुसार इससे नकारात्मकता आती है। इसे दूर करने के लिए नियमित रूप से दरवाजे-खिड़कियों में तेल डालना चाहिए।

खबरें पढ़ने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें-

Twitter _  https://twitter.com/babapost_c

Facebook _ https://www.facebook.com/baba.post.338/

Facebook _ https://www.facebook.com/babapostdotcom

LinkedIN _ https://www.linkedin.com/in/baba-post-1477661a4/

 

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Astrology