Thursday, August 11, 2022
HomeChhattisgarhडायवर्सन टूटने की सूचना मिली तो आधी रात नक्सलगढ़ की ओर निकल...

डायवर्सन टूटने की सूचना मिली तो आधी रात नक्सलगढ़ की ओर निकल पड़े कलेक्टर, जानें क्या है पूरा मामला

छत्तीसगढ़: नारायणपुर. जिला प्रशासन द्वारा अतिवृष्टि के कारण बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में जरूरी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी आपदा प्रबंधन की से जुड़ी तैयारियों पर अलर्ट हैं। साथ ही खुद ही नदी-नालों, पुल-पुलियों पर जाकर जायजा ले रहे हैं। इसी तरह रात में कलेक्टर श्री रघुवंशी को सूचना मिली कि तेज बारिश के चलते नारायणपुर जिले के अंतिम छोर कड़ेमेटा कैम्प के आगे भारी बारिश के चलते डायवर्सन टूट गया है।

जिले के अंतिम छोऱ और घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में कलेक्टर श्री ऋतुराज रघुवंशी सहित पूरा प्रशासनिक अमला रात 2 बजे मौके पर पहुँचा और स्थिति का जायजा लिया। मौका पर पाया कि पुल के ऊपर से पानी का बहाव हो रहा है। सावधानी बरतते हुए कलेक्टर श्री रघुवंशी ने पुल के ऊपर से आवागमन को प्रतिबन्धित कराया। इस जगह पर जवानों को तैनात भी किया गया। कलेक्टर ने पानी का बहाव कम होने पर आवागमन को बहाल करने और तत्काल इस डायवर्सन को सुधारने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों और सेना के जवानों को किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

छत्तीसगढ़ : सहायक ग्रेड-3 के पदों पर भर्ती के लिए चयन सूची जारी

कलेक्टर के निर्देश के बाद तत्काल क्षतिग्रस्त डायवर्सन को सुधारने का काम शुरू किया गया जिससे आवाजाही सुचारू हो सके। कलेक्टर की इस पहल से क्षेत्र के ग्रामीण खुश हैं। की लहर देखी जा रही है। कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सतत नजर रखे हुए है। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर प्रदीप वैद्य, नगर सेना सेनानी मनोहर चौहान, तहसीलदार मुकेश ठाकुर और आकाश भारद्वाज द्वारा मौका निरीक्षण किया गया।

हेल्पलाइन नंबर

कलेक्टर  ऋतुराज रघुवंशी ने भारी बारिश में प्राकृतिक आपदा से बचाव एवं राहत व्यवस्था करने हेतु अपर कलेक्टर श्री अभिषेक गुप्ता को बाढ़ नियंत्रण अधिकारी नियुक्ति किया है। अपर कलेक्टर श्री गुप्ता का दूरभाष नंबर +91-07781-252905 एवं मोबाईल नंबर +91-91657-57092 है। कार्यालय कलेक्टर के कक्ष क्रमांक-20 में बाढ़ आपदा नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है। नियंत्रण कक्ष का दूरभाष क्रमांक +91-07781-252214 है। बाढ़ आपदा नियंत्रण कक्ष हेतु अधिकारी और कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी है।

जल जीवन मिशन : समोदा बैराज का पानी महासमुंद ब्लॉक के 48 गांवों में पहुंचेगा, राज्यस्तरीय समिति का फैसला

RELATED ARTICLES

Most Popular