Friday, August 5, 2022
HomeChhattisgarhChhattisgarh: सभी घरों को बराबर मात्रा में पानी मिले, इसके लिए लगाए...

Chhattisgarh: सभी घरों को बराबर मात्रा में पानी मिले, इसके लिए लगाए जाएंगे फ्लो कंट्रोल वॉल्व

फ्लो कंट्रोल वॉल्व: धमतरी. शासन की महत्वाकांक्षी योजना जलजीवन मिशन के अंतर्गत जिले के सभी ब्लॉक के विभिन्न ग्रामों में जलप्रदाय योजनाएं स्थापित की जा रही हैं।

कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एसआर सोनकुसरे ने बताया कि योजनांतर्गत जिले में प्रत्येक घर में घरेलू कनेक्शन के जरिए प्रतिदिन प्रतिव्यक्ति 55 लीटर शुद्ध जल प्रदाय करने का लक्ष्य रखा गया है। मिशन के तहत ग्रामों में रेट्रोफिटिंग योजना, सिंगल विलेज योजना और सोलर आधारित जलप्रदाय योजनाओं के तहत पाइपलाइन विस्तार, टंकी निर्माण कार्य कर घरों में कम्पोजिट पाइप के माध्यम से कनेक्शन दिए जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इस योजना के पूर्व ग्राम में संचालित योजनाओं के तहत जलप्रदाय ग्राम पंचायतों के माध्यम से किया जाता है। प्रायः सभी इन ग्रामों से शिकायतें मिलती थीं कि जल के वितरण में सभी घरों में एकरूपता नहीं रहती। शिकायत पर परीक्षण के दौरान स्पष्ट हुआ कि कई ग्रामीणों के द्वारा घरों में टुल्लू पम्प से पानी खींचे जाने के कारण पानी का दबाव पाइप में कम पड़ता है जिसकी वजह से अनेक घरों में पानी पहुंच नहीं पाता।

8वीं और 10वीं पास बेरोजगारों के लिए सुनहरा मौका, 24 मार्च को लगेगा प्लेसमेंट कैंप, 8 से 10 हजार तक सैलरी

कार्यपालन अभियंता ने बताया कि शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए शासन द्वारा निर्णय लिया गया कि जलजीवन मिशन अंतर्गत प्रदाय किए जाने वाले घरेलू कनेक्शनों में फ्लो कंट्रोल वॉल्व लगाया जाना अनिवार्य है। इसके लग जाने से ग्रामीणों के द्वारा टुल्लू पम्प का उपयोग करने से उनके घर पानी नहीं पहुंचेगा। इस संबंध में यह भी ज्ञात हुआ है कि कतिपय ग्रामीणों के द्वारा फ्लो कंट्रोल वॉल्व (5 एमपीएम) को भी निकाल देने की शिकायतें मिल रहीं हैं, और तो और कार्य एजेंसी के तकनीशियनों, कर्मचारियों व मजदूरों से भी अभद्र व्यवहार किया जा रहा है।

उन्होंने ऐसे ग्रामीणों से शुद्ध जल के समान वितरण में सहयोग करने की अपेक्षा करते हुए कहा है कि शासन द्वारा निर्धारित मापदण्डाें के अनुसार ही फ्लो कंट्रोल वॉल्व लगाया जा रहा है जो अतिआवश्यक है। इसके लगने से ही सभी घरों में पानी का समान वितरण संभव हो पाएगा। उन्होंने विभाग की ओर से ग्रामीणों से अपील की है कि वे इस कार्य में अवरोध उत्पन्न ना करते हुए आवश्यक सहयोग करें। इस संबंध में शिकायत मिलने पर उचित दण्डात्मक कार्रवाई का भी प्रावधान इसके तहत किया जा सकता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular