Thursday, September 29, 2022
HomeDesh/VideshJyeshtha Purnima 2022: ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत रखकर चंद्रदेव की पूजा करें, इन...

Jyeshtha Purnima 2022: ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत रखकर चंद्रदेव की पूजा करें, इन चीजों का करें दान

Jyeshtha Purnima 2022: ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि के दिन व्रत रखा जाता है, जिसे ज्येष्ठ पूर्णिमा (Jyeshtha Purnima) व्रत कहा जाता है। इस वर्ष ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत मंगलवार, 14 जून 2022 को है।  इस दिन चंद्र की पूजा की जाती है। जिससे कुंडली में चंद्र ग्रह की स्थिति अच्छी होती है।

ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत 2022 मुहूर्त (Jyeshtha Purnima Vrat 2022 Muhurta)

पूर्णिमा तिथि प्रारंभ: सोमवार 13 जून, 2022, रात्रि 09:02 बजे से
पूर्णिमा तिथि समापन: मंगलवार 14 जून, 2022, संध्या 05:21 बजे तक
साध्य योग: मंगलवार 14 जून 2022 को प्रातः 09:40 बजे तक, तत्पश्चात शुभ योग प्रारंभ
अभिजित मुहूर्त:  मंगलवार 14 जून 2022 को पूर्वान्ह 11:54 बजे से दोपहर 12:49 बजे तक

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर इन चीजों का करें दान

धार्मिक मान्यता के अुसार, ज्येष्ठ पूर्णिमा तिथि पर स्नान और दान करने से पुण्यफल की प्राप्ति होती है। इस दिन प्रात:काल से ही स्नान और दान कर सकते हैं। सुबह से ही साध्य योग प्रारंभ होगा, जो बेहद शुभ माना जाता है।

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर स्नान के बाद आप पात्र व्यक्ति को चंद्र से जुड़ी वस्तुएं जैसे सफेद वस्त्र, शक्कर, चावल, दही, चांदी, सफेद फूल, मोती आदि का दान करें। इससे  सुख एवं समृद्धि की प्राप्ति होती है।

ज्येष्ठ पूर्णिमा को चंद्रोदय मंगलवार 14 जून की संध्या 07 बजकर 29 मिनट पर होना है। इस समय आप चंद्र देव का दर्शन कर पूजन करें। अर्घ्य दें

ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन सामर्थ्य अनुसार सत्यनारायण भगवान की पूजा और कथा  का आयोजन कराएं।

राहु के प्रकोप से बचने के लिए धारण करें यह अंगूठी, बुरे असर से मिलेगी राहत

RELATED ARTICLES

Most Popular