Saturday, October 23, 2021
HomeNewsकोरोना वायरस | मास्क लगाकर पहुंचे सीएम, नवरात्रि पर डोंगरगढ़ में नहीं...

कोरोना वायरस | मास्क लगाकर पहुंचे सीएम, नवरात्रि पर डोंगरगढ़ में नहीं लगेगा मेला

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल कोरोना वायरस से बचाव के लिए मास्क लगाकर विधानसभा की कार्यवाही में शामिल हुए। सीएम के अलावा विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत सहित मंत्रीगणों और विधायकों ने भी मास्क लगाकर सोमवार को सदन की कार्यवाही में हिस्सा लिया और लोगों को संदेश दिया गया कि सावधानी से ही कोरोना से बचा जा सकता है। वहीं दूसरी ओर इस बार डोंगरगढ़ में नवरात्रि के दौरान मेला नहीं लगाया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया है। देश के विभिन्न हिस्सों से लगातार इस वायरस से संक्रमित लोगों की पुष्टि हो रही है। इस वायरस के निकट भविष्य में विकराल रूप लेने की संभावना को देखते हुए भारत सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी के परिपालन में राज्य में सभी आवश्यक कदम प्रभावी तरीके से उठाएं जा रहे है।

कोरोना पर नियंत्रण रखने आपदा निधि से दी जाएगी राशि

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जितनी भी राशि लगेगी उसे राज्य आपदा मोचन निधि (एसडीआरएफ) से प्रदान करेगी। मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही कोरोना वायरस के परीक्षण के लिए प्रदेश में और अधिक टेस्ट सेंटर खोलने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के सचिव को दिए हैं। सीएम (मुख्यमंत्री) बघेल ने अधिकारियों को छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से बचाव, रोकथाम तथा दवाईयों और आवश्यक उपकरणों आदि की व्यवस्था के लिए स्टेट डिजास्टर रिपोंस फण्ड (एसडीआरएफ) से सभी आवश्यक इंतजाम तत्काल करने के निर्देश दिए हैं।

इसे भी पढ़े-मध्यप्रदेश | फ्लोर टेस्ट नहीं कराने पर राज्यपाल ने खफा, आज बहुमत साबित करने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

नवरात्रि पर डोंगरगढ़ में नहीं लगेगा मेला

Dongargarhकोरोना वायरस के संक्रमण से नागरिकों की सुरक्षा के लिए राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में चैत्र नवरात्रि पर्व पर होने वाले मेले सहित जिले में होने वाले सभी मेलों का आयोजन स्थगित कर दिया गया हैं। माँ बम्लेश्वरी मंदिर डोंगरगढ़ में यात्रियों की सुविधा के लिए लगाए गए रोपवे 17 मार्च से आगामी आदेश तक बंद रहेगा। इसके अलावा डोंगरगढ़ मंदिर के अलावा जिले के अन्य जगहों पर लगने वाले मेले को भी प्रतिबंधित किया गया है। नवरात्र पर्व के दौरान स्थानीय स्तर पर होने वाले कार्यक्रमों पर भी रोक लगाई गई है। लोगों से अपील की गई है कि वे अपने घरों में ही पूजा-पाठ करें।

राजनांदगांव के कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के कारण पैदल यात्रा  और कार सेवा को स्थगित करने का निर्णय लिया है। पदयात्रा मार्ग में पदयात्रियों के लिए किसी भी प्रकार की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी। इसके लिए शहर में प्रवेश करने वाले रास्तों पर चेक पोस्ट लगाया जाएगा। बाहर से दर्शन करने आने वाले पैदल यात्रियों और गाडि़यों पर रोक लगाई जाएगी।

सीढ़ियों पर लगने वाली दुकानें रहेंगी बंद

नवरात्रि के दौरान मंदिर खुले रहेंगे पूजा-पाठ किए जाएंगे। लेकिन सीढ़ियों पर लगने वाली खाद्य सामग्रियों की दुकाने बंद रहेंगी। इस वर्ष नवरात्र पर्व में डोंगरगढ़ आने वाले स्पेशल ट्रेन और स्पेशल टिकट कॉऊंटर की व्यवस्था नहीं की जाएगी। खुले प्रसाद भी वितरित नहीं किया जाएगा। मंदिर में दर्शन के लिए मास्क और सेनेटाईजर लगाकर जाने दिया जाएगा। सर्दी, खांसी से पीडि़त लोगों को मंदिर जाने से पहले मेडिकल चेकअप कराना होगा। इस पर मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों ने भी सहमति दी है। मंदिर में जाने के लिए एक ही रास्ता होगा। जहां पर मेडिकल कैम्प लगाई जाएगी।

सामूहिक आयोजन नहीं होंगे

मंदिर की साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था रहेगी। मंदिर में ऊपर से नीचे तक सीढि़यों में सेनिटाईजर और हेण्डवॉस की व्यवस्था किया जाएगा। कर्मचारियों को भी मास्क दिया जाएगा। जिन लोगों को सर्दी, खासी और बुखार हो उन्हें दर्शन करने नहीं आने की अपील की गई है। दूसरे राज्यों और शहरों से आने वाले दर्शनार्थियों को रोका जाएगा। अन्य राज्यों से आने वाले बसों पर भी कड़ी निगरानी रखी जाएगी। जिले में किसी भी प्रकार का सामुहिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

इसके लिए एसडीएम से अनुमति लेना आवश्यक होगा। आयोजनों में साफ-सफाई और हेण्डवॉस की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। शहर के सभी चेक पाईंट पर कोरोना वायरस के संबंध में प्रचार-प्रसार के लिए पोस्टर, बेनर और लाऊडस्पीकर भी लगाया जाएगा। रेल्वे स्टेशनों पर भी लाऊडस्पीकर और पोस्टर द्वारा इसकी लगातार जानकारी दी जाएगीे।

इसे भी पढ़े-गुस्साए ऊंट ने मालिक के सिर और पैर को चबाकर  मार डाला

Source – DPRCG

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments