Friday, October 22, 2021
HomeNewsओडिशा में एक बार फिर Cyclone का खतरा, IMD ने कहा-उत्तरी अंडमान...

ओडिशा में एक बार फिर Cyclone का खतरा, IMD ने कहा-उत्तरी अंडमान सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना

ओडिशा (Odisha) के लिए अक्टूबर (October) का माह जोखिम वाला है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने Odisha में गुरुवार को पूर्वानुमान के आधार पर बताया कि उत्तर अंडमान सागर (North Andaman Sea) में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। IMD के मुताबिक, अंडमान सागर में यह बदलाव 10 अक्टूबर को हो सकता है।

IMD के मुताबिक10 अक्टूबर को कम दबाव का क्षेत्र बनने की पूरी संभावना है जो दक्षिण ओडिशा (South Odisha) और उत्तरी आंध्र प्रदेश (North Andhrapradesh) की ओर बढ़ेगा। बता दें कि राज्य के लिए अक्टूबर को ‘CYCLONE Month’ माना जाता है और इसलिए लोगों के बीच संशय का माहौल है। Odisha के तट से अधिकतर बड़े Cyclone इसी माह में टकराए हैं।

दशगात्र के भोजन में परोसे गए फुटू को खाने से बच्चों सहित 46 हुए फूड पाइजनिंग के शिकार, कलेक्टर आए एक्शन में

येलो वार्निंग जारी

Monsoon की वापसी व चक्रवाती गतिविधियों को देखते हुए IMD ने 9 अक्टूबर सुबह 8.30 बजे तक येलो वार्निंग जारी कर दिया है। शुक्रवार सुबह 8.30 बजे तक भारी बारिश होने की संभावना के चलते इन जिलों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया है – सुंदगढ़, बारगढ़, झारसुगुडा संबलपुर, देवगढ़, अंगुल, मयूरभंज, कयोनझर और बालासोर, मलकानगिरी, कोरापुट, नवरंगपुर, रायागढ, कालाहांडी, कंधमाल, गजपति और गंजम।

October में ही आए थे Super Cyclone

29 अक्टूबर 1999 में आए सुपर साइक्लोन के कारण Paradeep के पास लैंडफाल हुआ था और 10 हजार लोगों की मौत हो गई थी। Cyclone Phailin, हुदहुद और तितली 2013, 14, 18 के October में आए थे। वहीं इस साल September में आए Cyclone Gulab के कारण आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा के कई जिले प्रभावित हुए। इनसे निपटना राज्यों ने पूरी तैयारी की थी।

Twitter _  https://twitter.com/babapost_c

Facebook _ https://www.facebook.com/baba.post.338/

YouTube_सबस्क्राइब करें यूट्यूब चैनल

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments