महासमुंद. महासमुंद ज़िले के पिथौरा विकासखंड के समीप के ग्राम अंसुला में बुधवार को दशगात्र भोज खाने से बच्चों सहित कई लोग फूड पॉइजनिंग के शिकार हो गए। सभी प्रभावितों को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया है। जहां सभी की हालत खतरे से बाहर है। महासमुंद कलेक्टर डोमन सिंह जानकारी मिलते ही तुरंत पिथौरा पहुँचे। उन्होंने फ़ूड पॉइज़न से प्रभावित बच्चों और लोगों से बातचीत कर स्वास्थ्य का हालचाल पूछा।  चिकित्सकों को सभी के बेहतर उपचार करने कहा। मुख्य कार्यपालन अधिकारी ज़िला पंचायत आकाश छिकारा और एसडीएम पिथौरा भी मौक़े पर थे।

जानकारी के अनुसार बुधवार दोपहर अंसुला प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक दिलीप साहू की माताजी के निधन के बाद दोपहर दशगात्र के अवसर पर भोज करने अंसुला सहित आसपास के ग्रामीण एवं बच्चे भी शामिल हुए।  भोजन के कुछ देर बाद अचानक एक के बाद एक शामिल ग्रामीण एवम बच्चों को दस्त होने लगे। कुछ को उल्टियां भी होने लगी थी। इसके बाद आनन फानन में बच्चों एवं ग्रामीणों को पिथौरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया।

महासमुंद : हेलमेट पहनकर बाइक चलाने वालों काे कलेक्टर ने किया सम्मानित

जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार  भोज में फुटू (मशरूम) भी बनाया गया था। शायद इसी से फ़ूड पॉइज़निंग की संभावना जतायी जा रही है। स्थानीय डॉक्टर  उपचार में लगे है। अब तक 46 ग्रामीणों को स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया है इनमे 8 एडल्ट एवं बाकी सभी 6 से 8 साल उम्र के बच्चे है। इनमें कुछ दस्त एवं कुछ उल्टी होने की शिकायत थी। सभी का उपचार जारी है। सभी खतरे से बाहर है। डॉक्टरों द्वारा मरीजो को घर वापस जाने की भी अनुमति दे दी गयी है। कुछ लोग एहतियातन रुके है।

स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की टीम उक्त मामले में उपचार हेतु जुटी है।  अभी और मरीजों के आने की संभावना को देखते हुए कलेक्टर डोमन सिंह ने ज़िला मुख्यालय से भी डॉक्टरों की टीम पिथौरा बुलाने के निर्देश दिए है। कलेक्टर पूरी स्थिति पर पिथौरा रहकर नज़र रखें है। सभी बच्चों और लोगों का स्वास्थ्य पहले से बेहतर है। ख़तरे की कोई बात नहीं है।

Twitter _  https://twitter.com/babapost_c

Facebook _ https://www.facebook.com/baba.post.338/

YouTube_सबस्क्राइब करें यूट्यूब चैनल