महासमुंद. महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर पूरा महासमुंद जिला शत्-प्रतिशत् वैक्सीनेट हो गया है।  ज़िले के सभी पात्र हितग्राही को कोविड का सौ फीसदी टीकाकरण किया जा चुका है। जिले में सभी श्रेणियों के पात्र 724538 लोगों को अब तक वैक्सीनेट किया जा चुका है। सबसे पहले सीमावर्ती क्षेत्र सरायपाली और बागबाहरा के नगरीय क्षेत्र में टीकाकरण कराने पर विशेष ध्यान रखा गया। क्योंकि ये इलाके पड़ोसी राज्य की सीमा से लगते है। जहां लोगों का आवागमन ज्यादा होता है। इन इलाकाें में रैंडमली टेस्टिंग भी बढ़ायी गयी थी। चेकपोस्ट भी बनाए गए थे।

सरायपाली नगरीय क्षेत्र में और ग्रामीण क्षेत्रों में खासा ध्यान रखा गया था। सरायपाली के ग्राम अर्जुण्डा को सबसे पहले सभी पात्र लोगों को टीकाकरण कर शत्-प्रतिशत् अभियान की शुरुआत की गयी थी। इसके बाद जिले में कार्ययोजना बनाकर नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना मुक्त मुहिम और तेज की गयी और जिले के सभी 6 नगरीय क्षेत्र और ग्रामीण क्षेत्र एक-एक करके शत्-प्रतिशत टीकाकरण की श्रेणी में लाए गए। अब पूरा ध्यान कोविड की द्वितीय डोज लगाने की ओर है। जिले में 35 प्रतिशत् से अधिक पात्र लोगों को कोविड की द्वितीय डोज लगायी जा चुकी है।

महासमुंद कलेक्टर ने जारी किए नवरात्रि पर्व को लेकर दिशा-निर्देश, 8 फीट से अधिक नहीं होगी प्रतिमा की ऊंचाई

कलेक्टर डोमन सिंह सोशल मीडिया के माध्यम से स्वास्थ्य अमले केे साथ- साथ अधिकारियों के सतत् सम्पर्क में है और जरूरी दिशा-निर्देश उनके द्वारा दिए जा रहें हैं। कलेक्टर पूरे जिले को शत-प्रतिशत टीकाकरण के लिए जनता के साथ-साथ जिले के सभी सरपंचों, पंचायत सदस्यों और गणमान्य को जनप्रतिनिधियों सहित स्वास्थ्य अमले सहित सभी राजस्व सहित इससे जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों को इसके लिए बधाई दी और आगे भी सहयोग की अपील करते हुए कहा कि सामूहिक सहयोग के साथ ही इस महामारी को हराया जा सकता है। इसलिए ज़रूरी है कोई भी पात्र व्यक्ति अब द्वितीय वैक्सीनेशन से न छूटे।

जानकारी के अऩुसार महासमुन्द ग्रामीण क्षेत्र में 123129 और नगरीय क्षेत्र में 46871 पात्र लोगों को वैक्सीन लगाई गई।  बागबाहरा ग्रामीण क्षेत्र में 115702 और नगरीय क्षेत्र में 15107, इसी प्रकार पिथौरा के ग्रामीण क्षेत्रों में 131947 लोगों को और नगरीय क्षेत्र में 7322 पात्र हितग्राहियों को कोरोना का टीका लगा। बसना के ग्रामीण क्षेत्रों में 121302 और नगरीय क्षेत्र में 9370 को वैक्सीन की डोज लगी। वहीं सरायपाली के ग्रामीण क्षेत्रों में 130941 और सरायपाली नगरीय क्षेत्र में 16493 पात्र हितग्राहियों को कोरोना की खुराक दी गयी।

इस प्रकार पूरे जिले में 724538 लोगों को शत्-प्रतिशत् टीकाकरण का कार्य किया गया। गांवों और नगरीय क्षेत्रों में टीकाकरण के लिए लोगों में भारी उत्साह देखा गया था। दोनों जगह इस मुहिम में सभी का सहयोग रहा। कलेक्टर डोमन सिंह रोज़ टीकाकरण प्रगति की हर घंटे रिपोर्ट ले रहे थे। गांव में मोबिलाइजेशन हेतु प्रचार-प्रसार मुनादी आदि करवाने कहा गया।

महासमुन्द जिले में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए और तीसरी लहर से लोगों को सुरक्षित रखने, उनके बेहतर स्वास्थ्य और सेहत की चिंता करते हुए जिले में तेजी से टीकाकरण किया गया। इसके तहत पहले जिले के सीमावर्ती क्षेत्र सरायपाली, बागबाहरा विकासखण्ड में सभी पात्र लोगों को शत्-प्रतिशत् कोविड की वैक्सीन की ओर ध्यान दिया गया।

इसके लिए पूरी कार्ययोजना बनाकर युद्धस्तर पर काम किया गया। इस विकासखण्ड में सर्वाधिक स्थानों पर टीकाकरण सेंटर बनाए गए। रोजाना टीका लगाने की संख्या में इजाफा किया जाता रहा।  बता दें कि इसी साल 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण अभियान में महासमुन्द जिला शुरूआत से ही कोविड टीकाकरण में छत्तीसगढ़ के अन्य कई जिलों की अपेक्षा आगे रहा है। यहां टीके की आपूर्ति के अनुसार रोजाना बड़ी संख्या में पात्र हितग्राहियों को टीका लगाया गया। कलेक्टर श्री सिंह प्रतिदिन टीकाकरण की चल रहें कार्यों पर पैनी नजर बनाए हुए थे।

Twitter _  https://twitter.com/babapost_c

Facebook _ https://www.facebook.com/baba.post.338/

YouTube_सबस्क्राइब करें यूट्यूब चैनल