Friday, December 9, 2022
HomeChhattisgarhछत्तीसगढ़ में खाद संकट पर माहौल गर्म, संसदीय सचिव चंद्राकर ने केंद्र...

छत्तीसगढ़ में खाद संकट पर माहौल गर्म, संसदीय सचिव चंद्राकर ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

महासमुंद. संसदीय सचिव व विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर (Parliamentary Secretary and MLA Vinod Sevenlal Chandrakar) ने छत्तीसगढ़ में खाद संकट को लेकर  मोदी सरकार (Modi Govenment) पर निशाना साधा है। चंद्राकर ने कहा कि फसल बोआई के दौरान केंद्र की मोदी सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के खाद कोटे में 45 प्रतिशत की कटौती करने का खामियाजा यहां के किसान भुगत रहे हैं।

संसदीय सचिव श्री चंद्राकर (Parliamentary Secretary and MLA Vinod Sevenlal Chandrakar) ने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार किसानों की चिंता कर रही है और रासायनिक उर्वरकों की उपलब्धता के अनुसार किसानों को खाद  उपलब्ध करा रही है।

छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग के 19 अधिकारियों का किया गया तबादला, देखें सूची

चंद्राकरने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने 7 लाख 50 हजार मीट्रिक टन की डिमांड की थी, लेकिनकेंद्र सरकार ने महज 4 लाख 11 हजार मीट्रिक टन उर्वरक देने की मंजूरी दी। यह खपत का केवल 55 प्रतिशत है।  45 फीसदी में कटौती कर दी गई है। इसके अलावा जितनी की मंजूरी दी गई है उसमें सिर्फ 3 लाख 20 हजार मीट्रिक टन रासायनिक उर्वरक ही छत्तीसगढ़ भेजा गया है।

छत्तीसगढ़ राज्य विपणन संघ (Chhattisgarh State Marketing Association) के मुताबिक राज्य को अब तक 1 लाख 17 हजार 522 मीट्रिक टन यूरिया प्राप्त हुआ है। जरूरत का यह सिर्फ 34 फीसदी है। वहीं DAP मात्र 28 फीसदी, पोटाश 53 फीसदी, NPK कॉम्प्लेक्स 43 प्रतिशत ही मिला है।

छत्तीसगढ़ : जमीन के बाजार मूल्य में शासन ने बढ़ाई छूट की दर, विभाग ने जारी किया आदेश

चंद्राकर ने कहा कि केंद्र सरकार के रवैए की वजह से प्रदेश में रासायनिक उर्वरकों की कमी हो रही है। प्रदेश सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के उद्देश्य से गोबर खरीदकर उसे vermi compost के रूप में तैयार करा रही है। केंद्र सरकार द्वारा राज्य के कोटे में कटौती करने से यहां खाद का संकट उत्पन्न हो गया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular