Thursday, March 4, 2021

गुप्त नवरात्रि Gupt Navratri 2021: मनोकामना की पूर्ति के लिए करें गुप्त साधना, जानें घटस्थापना मुहूर्त के बारे में

Gupt Navratri 2021 माघ नवरात्रि 2021 : हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल शुक्रवार 12 फरवरी माघ मास का शुक्ल पक्ष प्रारंभ होगा। इस दिन से ही माघ महीने की गुप्त नवरात्रि 2021 (Gupt Navratri 2021) का भी शुभारंभ होगा। इस दौरान मां दुर्गा की साधना की जाती है। हिंदू धर्म में नवरात्रि (Navratri) का विशेष  महत्व है। जिसमें मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की आराधना की जाती है।  एक साल में  4 नवरात्रि पर्व होते हैं। इन्हें शारदेय, चैत्र, माघ व आषाढ़ नवरात्रि कहा जाता है। इनमें से  माघ और आषाढ़ मास में आने वाली नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि माना गया है।

गुप्त नवरात्रि को तंत्र मंत्र की साधना के लिए उत्तम माना गया है। ऐसा माना जाता है कि गुप्त नवरात्रि (Gupt Navratri) में की जाने वाली पूजा को जितना गुप्त रखा जाता है, उतना ही उसके फलों में बढ़ोतरी होती है। गुप्त नवरात्रि में सात्विक और तांत्रिक पूजा की जाती है। इस दौरान की गई पूजा और मनोकामना को गुप्त रखा जाता है। माना जाता है कि ऐसा करने से मां दुर्गा की कृपा प्राप्त होती है। वहीं फल दोगुना मिलता है। इस साल माघ गुप्त नवरात्रि 12 फरवरी से शुरू हो रहे हैं और समापन रविवार 21 फरवरी को होगा। इस बार माघ गुप्त नवरात्रि 2021 दस दिनों की होगी  क्योंकि 17 और 18 फरवरी को दोनों दिन षष्ठी तिथि होगी।

दुर्गा सप्तशती का पाठ करें

गुप्त नवरात्रि में पूरी श्रद्धा, भक्ति और विधिविधान से पूजा करने से कई प्रकार की परेशानियां दूर होती है।  गुप्त नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती का पाठ करना शुभ फल प्रदान करने वाला माना गया है। साथ ही  गुप्त नवरात्रि में नियमों का कठोरता से पालन करना चाहिए। इस दौरान किसी से गुस्से से बात न करें, नाम जप करे, सभी से स्नेह रखें, शुचिता का पालन करें।

Gupt Navratri 2021 के शुभ मुहूर्त

  • कलश (घट) स्थापना –  12 फरवरी को सुबह 8:34 से 9:59 बजे
  • अभिजित मुहूर्त – दोपहर 12:13 से 12:58 बजे तक

माघ गुप्त नवरात्र 2021 (Magh Gupta Navratri 2021) के कार्यक्रम

  • 12 फरवरी: प्रतिपदा मां शैलपुत्री, घटस्थापना
  • 13 फरवरी: मां ब्रह्मचारिणी देवी पूजा
  • 14 फरवरी: मां चंद्रघंटा देवी पूजा
  • 15 फरवरी: मां कुष्मांडा देवी पूजा
  • 16 फरवरी: मां स्कंदमाता देवी पूजा
  • 17 और 18 फरवरी षष्ठी तिथि: मां कात्यानी देवी पूजा
  • 19 फरवरी सप्तमी तिथि: मां कालरात्रि देवी पूजा
  • 20 फरवरी अष्टमी तिथि: मां महागौरी, दुर्गा अष्टमी
  • 21 फरवरी नवमी तिथि: मां सिद्धिदात्री, व्रत पारण

इसे भी पढ़ें – आज का पंचांग 12 फरवरी 2021 Aaj Ka Panchang 12 February 2021 : पंचक, कुंभ संक्रांति व मुहूर्त के बारे में जानें

Twitter _  https://twitter.com/babapost_c

Facebook _ https://www.facebook.com/baba.post.338/

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles