Friday, October 22, 2021
HomeReligion/Festivalहोली 2020 : होलाष्टक क्या है, होलिका दहन किस मुहूर्त को...

होली 2020 : होलाष्टक क्या है, होलिका दहन किस मुहूर्त को होगा, जानिए होली से जुड़ी जानकारी

वसंत ऋतु में मनाया जाने वाला होली (Holi) महत्वपूर्ण भारतीय पर्व  है। इसे हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। यह भारत के अलावा नेपाल में भी  प्रमुखता से  मनाया जाता है। पहले दिन को होलिका जलाते हैं, इसे होलिका दहन कहा जाता है। इससे पूर्व होलाष्टक भी लगता है। दूसरे दिन लोग एक दूसरे पर रंग, अबीर-गुलाल इत्यादि फेंकते हैं। इस बार होलिका दहन  9 मार्च को किया जाएगा, वहीं दूसरे दिन 10 मार्च को लोग रंग खेलेंगे। आइए जानते हैं किस तरह से होली पर्व की तैयारी की जाती है।

इसे भी पढ़े-न्यू रिलीज : धूम मचा रहा बागी-3 का यह नया गाना, दिशा पाटनी का हाट अवतार, देखें वीडियो

होली 2020- मुहूर्त (आगे देखें)

इस तरह होती है होली की तैयारी

Holi-2020सबसे पहले किसी सार्वजनिक स्थल या घर के आहाते में डंडा लगाया जाता है। इसकी तैयारी काफी दिनों पहले से शुरू हो जाती है। होलिका दहन के दिन जहां लकड़ी, कंडे इकट्ठी की जाती है वहां होली जलाई जाती है। लकड़ियों व उपलों से बनी इस होली की दोपहर से ही पूजा अर्चना शुरू हो जाती है। घरों में बने पकवानों का भोग लगाया जाता है। दिन ढलने पर हिंदू पंचांग के आधार पर निकाले गए मुहूर्त पर होली का दहन किया जाता है।  लोग नगाड़े सहित अन्य वाद्य यंत्र बजाकर गीत गाते हैं, नृत्य करते हैं।

दूसरे दिन खेलते हैं रंग

holi-2020ढोल बजा कर होली के गीत गाये जाते हैं और घर-घर जा कर लोगों को रंग लगाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि होली के दिन लोग पुरानी कटुता को भूल कर गले मिलते हैं और फिर से दोस्त बन जाते हैं। एक दूसरे को रंगने और गाने-बजाने का दौर दोपहर तक चलता है। इसके बाद स्नान कर के विश्राम करने के बाद नए कपड़े पहन कर शाम को लोग एक दूसरे के घर मिलने जाते हैं, गले मिलते हैं और मिठाइयाँ खिलाते हैं।

होलाष्टक 3 मार्च से, शुभ कार्य होते हैं वर्जित

होलाष्टक दोष 3 मार्च मंगलवार से शुरू होगा। यह 9 मार्च को होलिका दहन के साथ ही समाप्त हो जाएगा। होलाष्टक के दौरान सभी शुभ कार्य वर्जित होते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार होलाष्टक के पहले दिन  फाल्गुन शुक्ल पक्ष की अष्टमी को चंद्रमा, नवमी को सूर्य, दशमी को शनि, एकादशी को शुक्र, द्वादशी को गुरु, त्रयोदशी को बुध, चतुर्दशी को मंगल तथा पूर्णिमा को राहु का उग्र रूप रहता है। माना जाता है कि इन आठ दिनों में  विकारों, शंकाओं की प्रधानता रहती है। इसलिए इन आठ दिनों में नए कार्य शुरू नहीं करने चाहिए। कहा जाता है कि होलाष्टक के दौरान नए कार्य में सफलता की संभावना नहीं रहती।

इसे भी पढ़े-Man vs Wild : इस बार दिखेगा सुपर स्टार रजनीकांत का एडवेंचर, टीजर हुआ रिलीज

होली 2020- जाने मुहूर्त

इस साल 9 मार्च को होलिका दहन (holika dahan) और 10 मार्च को धुलेंडी मनाया जाएगा। 9 मार्च को फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा है।  होलिका दहन गोधूलि बेला में सांय 6:28 बजे से 6:40 बजे तक होगी। फाल्गुन मास की शुरूआत 10 फरवरी से हो चुकी है।

राशिनुसार करें होलिका दहन

ज्योतिष के अनुसार, यदि आप अपनी कुंडली में ग्रह और नक्षत्रों के दोष से जूझ रहे हैं और आप इन दोषों से निजात पाना चाहते हैं तो होलिका दहन (holika dahan) में  राशिनुसार आहुति दें। जिससे ग्रह बाधा दूर हो जाए। इसके लिए आप ज्योतिषियों से परामर्श जरूर करें।

विदेशों में होली की तरह मिलते-जुलते त्यौहार

भारत के अलावा विश्व के दूसरे देशों में होली की तरह ही मिलते-जुलते त्यौहार मनाए जाते हैं। जबकि नेपाल, पाकिस्तान,  बंगलादेश, श्रीलंका और मारीशस में भारतीय परंपरा के अनुसार ही पर्व मनाया जाता है।

अमेरिका – अमेरिका में  हैलोइन हर साल 31 अक्टूूबर की रात को मनाया जाता है। इस दिन सूर्य पूजा की जाती है। बच्चे, बड़ों की  टोलियां सूर्यास्त के बाद खेलने-कूदने और मस्ती के लिए जमा होती है।

नेपाल- नेपाल के काठमांडू में हफ्तेभऱ के लिए प्राचीन दरबार और नारायणहिटी दरबार में बांस लगाया जाता है। इसे लगाकर होली के आगमन की सूचना दी जाती है।

पोलैंड- पोलैंड में आर्सिना पर लोग एक दूसरे पर रंग और गुलाल लगाते हैं। यह रंग फूलों से बना होता है।

इटली- इटली में रेडिका त्यौहार फरवरी के महीने में मनाया जाता है। चाैराहों पर लकड़ी जलाई जाती है।

स्पेन –ला टोमाटीना  स्पेन में मनाया जाने वाला त्योहार है। अगस्त माह में लोग यह त्यौहार एक दूसरे पर टमाटर फेंककर मनाते हैं। इसमें भाग लेने के लिए दूसरे देशों से भी लोग पहुंचते हैं।

दक्षिण कोरिया– यहां बोरीयोंग मड फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। यह जुलाई महीने में मनाया जाता है। लोग एक दूसरे के ऊपर मिट्टी लगाते हैं और कीचड़ फेंकते हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments