Monday, September 20, 2021

गणेश चतुर्थी 2021 Ganesh Chaturthi 2021: भगवान श्री गणेश को जल्द प्रसन्न करने के लिए करें इन मंत्रों का जप

Must read

गणेश चतुर्थी 2021 Ganesh Chaturthi 2021: भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि यानी 10 सितंबर 2021 से गणेशोत्सव का शुभारंभ होगा। यह पर्व 3, 5 या 11 दिनों तक मनाया जताया है। इस मौके पर श्रद्धालु विध्नहर्ता भगवान श्री गणेश की पूजा अर्चना हर्षोल्लास के साथ करते हैं। शास्त्रों के अनुसार किसी भी धार्मिक, मांगलिक कार्य में सबसे पहले  भगवान गणेश की पूजा सबसे पहले की जाती है। भगवान गणेश को दुर्वा, शमीपत्र अत्यंत प्रिय है। इसके अलावा इन मंत्रों का जप करने से भगवान श्रीगणेश शीघ्र प्रसन्न होते हैं। ये हैं मंत्र
ऊँ गं गणपतये नमः ।।
वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ:। निर्विध्नं कुरुमे देव सर्व-कार्येषु सर्वदा॥ एकदंताय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात।। महाकर्णाय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात।। गजाननाय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात।।
  • ऊँ गणाधिपाय नम:
  • ऊँ उमापुत्राय नम:
  • ऊँ विघ्ननाशनाय नम:
  • ऊँ एकदन्ताय नम:
  • ऊँ मूषकवाहनाय नम:
  • ऊँ कुमारगुरवे नम:
  • ॐ सुमुखाय नम:
  • ॐ विकटाय नम:
  • ॐ भालचंद्राय नम:
  • ॐ गजाननाय नम:
  • ॐ कपिलाय नम:
  • ॐ गजकर्णाय नम:
  • ॐ लंबोदराय नम:,
  • ॐ धूम्रकेतवे नम:
  • ॐ गणाध्यक्षाय नम:
  • ऊँ विनायकाय नम:
  • ऊँ ईशपुत्राय नम:
  • ऊँ सर्वसिद्धिप्रदाय नम:

गणेश चतुर्थी के दिन का पंचांग

सूर्योदय : सुबह 6 बजकर 04  मिनट पर सूर्यास्त : शाम 6 बजकर 32 मिनट पर
तिथि चतुर्थी – रात 9.57 पीएम तक तत्पश्चात पंचमी
नक्षत्र चित्रा – दोपहर 12.58 पीएम तक तत्पश्चात स्वाति
योग ब्रह्म- संध्या 05.43 पीएम  तक तत्पश्चात इंद्र
वार शुक्रवार
पक्ष शुक्ल
करण वणिज-पूर्वान्ह 11.08 एएम, विष्टि- 9.57 पीएम  तक तत्पश्चात बव
सूर्य राशि सिंह राशि पर
चंद्र राशि तुला राशि पर

शुभ मुहूर्त (Auspicious Timings)

अभिजित मुहूर्त
पूर्वान्ह 11:53 एएम से 12:43 पीएम तक
विजय मुहूर्त दोपहर 02.23 पीएम से 03.13 पीएम तक
निशिथ काल रात 11.55 पीएम से 12.41 एएम तक (11 सितंबर)
गोधूलि मुहूर्त शाम 06.24 पीएम से 06.48 पीएम तक
ब्रह्म मुहूर्त सुबह 04.30 एएम से 05.16 एएम तक (11 सितंबर)
अमृत काल
सुबह 06:59 एएम से 08:28 एएम तक तत्पश्चात रात 3.10 एएम से 4.39 एएम तक (11 सितंबर)
रवि योग सुबह 06:04 एएम से 12:58 पीएम तक
सर्वार्थसिद्धि योग
—-
त्रिपुष्कर योग
—-
त्योहार/व्रत/दिवस/जयंती गणेश चतुर्थी

अशुभ मुहूर्त (Inauspicious Timings)

राहुकाल सुबह 10:44 एएम से 12:18 पीएम तक
यमगण्ड दोपहर 03:25 पीएम से 04:59 पीएम तक
गुलिक काल सुबह 07:37 एएम से 09:11 एएम तक
दुर्मुहूर्त काल सुबह 08:33 एएम से 09:23 एएम तक तत्पश्चात दोपहर 12:43 पीएम से 01:33 पीएम तक
वर्ज्य
संध्या 06:12 पीएम से 07:41 पीएम तक
पंचक —-
गंडमूल
—-
भद्रा
पूर्वान्ह 11:08 एएम से 09:57 पीएम तक
नोट – पंचांग का यह विवरण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र नई दिल्ली के आधार पर है। अपने स्थान का सटीक मुहूर्त ज्ञात करने के लिए स्थानीय पंचांग का अवलोकन करें। इसे भी पढ़ें – भगवान शिव की पूजा करते समय रखें इन बातों का ध्यान, मनोकामना होगी पूर्ण

Click the links

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Astrology