Friday, August 5, 2022
HomeAstrologyराहु के प्रकोप से बचने के लिए धारण करें यह अंगूठी, बुरे...

राहु के प्रकोप से बचने के लिए धारण करें यह अंगूठी, बुरे असर से मिलेगी राहत

अष्टधातु के फायदे: किसी जातक की कुंडली में राहु की स्थिति यदि खराब हो तो उसकी शांति के लिए ज्योतिषी उपाय करने चाहिए। माना जाता है कि राहु से हुए नुकसान से उबरने में जातक को को लंबा समय लगता है। वहीं कई बार इतनी क्षति होती है कि जातक जीवनभर तकलीफ में रहता है। ज्‍योतिष शास्‍त्र के अनुसार राहु की शांति के लिए वैसे तो कई तरीके बताए गए हैं, लेकिन इनमें अष्टधातु से बनी अंगूठी धारण करना भी प्रभावी माना गया है। हिंदू और जैन धर्म में अष्टधातु को शुभ माना गया है। भगवान की प्रतिमा बनाने के लिए इस धातु का उपयोग किया जाता है।

अष्टधातु से बनी अंगूठी पहनें

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी जातक की कुंडली में राहु की दशा ठीक नहीं है तो उसे अष्टधातु से बनी अंगूठी या कड़ा धारण करना चाहिए। यह सोना, चांदी, तांबा, सीसा, जस्ता, टिन, लोहा और पारा के मिश्रण से बनती है। इसके चलते ग्रहों के प्रभाव को संतुलित करती है। हालांकि इसे धारण करने से पहले विशेषज्ञ से परामर्श जरूर कर लेना चाहिए।

राहु की उल्टी चाल से इन 4 राशियों की किस्मत बदलेगी

अष्टधातु धारण करने के फायदे

– जॉब-कारोबार में उन्नति, आमदनी बढ़ाने, कष्टों को दूर करने के लिए अष्टधातु धारण करना चाहिए।

– कुंडली में राहु का बुरा प्रभाव हो तो जातकों को दायें हाथ में अष्‍टधातु से बनी अंगूठी या कड़ा पहनना चाहिए। अष्टधातु पहनने से तनाव दूर होता है, एकाग्रता बढ़ती है। दूसरे ग्रहों के प्रकोप से भी शांति मिलती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular